Bareilly Weather:

Bareilly Weather: जुलाई के पहले सप्ताह में आठ साल में 232.8 मिमी पानी बरसा

Uttar Pradesh

Bareilly Weather: जुलाई का पहला सप्ताह बरेली में बारिश से बीता। प्रत्येक दिन बारिश हुई। रिकॉर्ड बारिश आठ साल बाद हुई है। जुलाई के पहले सप्ताह में मौसम विभाग ने 232.8 मिमी बारिश की है।

बरेली में रिकॉर्ड बारिश हुई है। जुलाई के पहले सप्ताह में आठ साल बाद रिकॉर्ड बारिश हुई। 2016 में 1 से 7 जुलाई के बीच 286.6 मिमी बारिश हुई थी, जबकि इस साल 232.8 मिमी बारिश हुई थी। सोमवार को भी पिछले सात दिनों से बारिश हुई है। बारिश के दौरान शहरवासी जलभराव की समस्या से गुजर रहे हैं। वहीं मौसम विभाग ने 11 जुलाई तक इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान लगाया है।

मौसम विभाग ने बताया कि 1 जुलाई से 7 जुलाई तक औसतन 135.2 मिमी बारिश होगी। 2016 में 286.6 मिलीमीटर बारिश हुई। इस अवधि में 232.8 मिमी बारिश हुई है। औसत से 97.6 मिमी अधिक है। अबकी बार दो दिशाओं से आ रहे चक्रवाती मौसम ने विक्षोभ की सक्रियता बढ़ा दी है, मौसम विशेषज्ञ अतुल कुमार ने बताया।

बारिश का क्रम अभी भी जारी है। भीषण वर्षा हो रही है। 2016 में भी यही हालात थे। पश्चिमी विक्षोभ सोमवार को भी सक्रिय रहेगा, मौसम विभाग का कहना है। हमें हल्की से मध्यम बारिश की उम्मीद है। मंगलवार को उच्च वायुदाब का क्षेत्र बनने पर आसमान साफ होने की उम्मीद है।

Bareilly Weather: सोमवार को दिन में बारिश हुई, लेकिन शाम को धूप हुई

रविवार को भी हल्की, तेज बारिश हुई, जो शनिवार देर रात से शुरू हुई थी। सुबह से बादल घने रहे। कहीं-कहीं हवा चलती रही। बारिश ने गर्मी के तेवरों को ठंडा कर दिया। देर रात फिर बारिश हुई, लेकिन शाम को हल्की धूप हुई। 24 घंटे में 31,7 मिलीमीटर बारिश हुई। सामान्य से छह डिग्री कम तापमान 27.8 डिग्री सेल्सियस था। यहाँ पारा दो डिग्री गिरकर 23.2 डिग्री सेल्सियस था।

Bareilly Weather: जलभराव से उत्पन्न समस्याएं

हजियापुर, शहर की सबसे मलिन बस्ती, की हालत खराब है। यहां नालों की सफाई नगर आयुक्त और महापौर के आदेशों के बावजूद नहीं हुई है। अब सड़कों पर जलभराव और कीचड़ की वजह से आवागमन मुश्किल हो गया है। रविवार को बारिश नहीं होने से जलभराव कम हुआ, लेकिन कीचड़ और दुर्गंध ने लोगों को परेशान कर दिया है। नगर आयुक्त ने हाल ही में हजियापुर का दौरा कर ठेकेदारों को नालों को साफ करने के लिए कहा था। निर्माण विभाग और ठेकेदार ने इसे नहीं देखा।

वहीं, आजमनगर मोहल्ले में हरी मस्जिद वाली गली बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है। 20 वार्ड के इरफान कुरैशी ने बताया कि बारिश का पानी सड़कों के गड्ढों में भर जाता है। लोगों को गंदगी और कीचड़ की वजह से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जनसेवा टीम की अध्यक्ष पम्मी खान वारसी ने सड़क की मरम्मत की मांग की है।

Bareilly Weather: सचेत एप डाउनलोड करने की अपील, दामिनी

जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने जिलेवासियों से कहा कि वे दामिनी, सचेत एप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करें, ताकि वे जल्दी सूचना प्राप्त कर सकें और सुरक्षित स्थान पर पहुंच सकें। बारिश के दौरान धातु की वस्तुओं को न छूने, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को बंद करने, फोन पर बातचीत नहीं करने आदि सुझाव दिए गए हैं।

नगर आयुक्त निधि गुप्ता वत्स ने कहा कि अगर नालों को साफ नहीं किया गया, तो जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई होगी। नालों को साफ करने और आवाजाही को सुगम बनाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

Bareilly Weather: जुलाई के पहले सप्ताह में आठ साल में 232.8 मिमी पानी बरसा

बरेली में तीन घंटे तक हुई मूसलाधार बारिश, जलभराव से शहर का बुरा हाल | Bareilly | UP Weather 2023