Jain Monks:

Jain Monks: 21 जैन मुनि, बारिश के बीच तप करते हुए, आचार्य समय सागर महाराज के साथ विहार पर चलते हुए दिखे।

Madhya Pradesh

Jain Monks: आचार्य सागर महाराज 21 मुनि संघ के साथ विहार पर हैं। गुरु बुधवार को हटा ब्लॉक में भोजन कर रहे थे। बारिश के बीच कुछ योगी साधना करते हुए दिखाई दिए। यह मुनि बारिश में बहुत देर तक साधना करते रहे।

आचार्य समय सागर महाराज 21 मुनि संघ के साथ दमोह जिले के प्रसिद्ध तीर्थस्थल कुंडलपुर से विहार पर हैं। आचार्य श्री बुधवार को हटा ब्लॉक में भोजन के लिए थे। बारिश के बीच कुछ योगी साधना करते हुए दिखाई दिए। यह मुनि बारिश में बहुत देर तक साधना करते रहे।

Jain Monks: ध्यान दें कि आचार्य समय सागर महाराज अभी मंगलवार को कुंडलपुर से खजुराहो जा रहे हैं।

Jain Monks: 21 जैन मुनि संत के साथ आचार्य श्री बुधवार को हटा ब्लॉक के कलकुआ स्कूल परिसर में अल्पविश्राम भोजन के लिए ठहरे थे। जैन मुनि संत तपस्या करने के लिए खेत और स्कूल के बाहर बैठे थे। इसी बीच भारी बारिश हुई। बारिश के दौरान भी जैन संत तप करते दिखे। यह दृश्य बहुत दुर्लभ है, लेकिन मुनि बारिश के बीच तपस्या करते हुए लीन को देखते ही रह गए।

Jain Monks: बारिश के दौरान तप कर रहे मुनियों को देखने के लिए आसपास के गांवों से सैकड़ों लोग आए। थोड़ी देर विश्राम करने के बाद मुनि संघ नगदा किशनगढ़ की ओर विहार पर चले गए। 16 अप्रैल को सागर महाराज ने आचार्य पद संभाला। इस आयोजन में देश भर से लाखों लोग शामिल हुए, जिसमें मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव और संघ प्रमुख मोहन भागवत भी शामिल थे। तीन महीने यहां रहने के बाद आचार्य समय सागर महाराज सात जुलाई को 21 मुनि संघ के साथ विहार पर निकले। पूरी संभावना है कि वे खजुराहो में पहुंच जाएंगे।

Jain Monks: 21 जैन मुनि, बारिश के बीच तप करते हुए, आचार्य समय सागर महाराज के साथ विहार पर चलते हुए दिखे।

जैन मुनि आचार्य विद्यासागर जी हुए ब्रह्मलीन.. पूज्य सरकार ने किया शोक प्रकट..