Khanna:

Khanna: 12 से अधिक लोग घायल हो गए, जमीन पर कब्जे को लेकर डेरा प्रबंधकों-एसजीपीसी में हिंसा, पेट्रोल बम चले

Home

Khanna: बिलासपुर में २० एकड़ से अधिक भूमि है। डेरा महंत प्रबंधक ने बताया कि यह जमीन उनकी है, जबकि एसजीपीसी इसे गुरुघर की जमीन बता रही है। इस मामले में हाईकोर्ट में भी मुकदमा चल रहा है।

Khanna: खन्ना के थाना दोराहा के गांव बिलासपुर में एसजीपीसी और डेरा महंत प्रबंधकों के बीच एक जमीनी विवाद में गोली मार दी गई। दोनों पक्षों ने जमीन पर कब्जा कर लिया। इस संघर्ष में दोनों पक्षों के लगभग दस लोग घायल हो गए। एसजीपीसी के अतिरिक्त सचिव विजय सिंह सहित कई कर्मचारी झड़प में घायल हुए हैं। सभी लोग घायल हो गए हैं और अस्पताल में भर्ती हो गए हैं।

Khanna: 20 एकड़ से अधिक जमीन है

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिलासपुर में 20 एकड़ से अधिक जमीन है। डेरा महंत प्रबंधक ने बताया कि यह जमीन उनकी है, जबकि एसजीपीसी इसे गुरुघर की जमीन बता रही है। इस मामले में हाईकोर्ट में भी मुकदमा चल रहा है। आज दोनों पक्ष जमीन पर आमने सामने हो गए जब एसजीपीसी अतिरिक्त सचिव विजय सिंह अपनी सेना सहित आए।

अतिरिक्त सचिव विजय सिंह ने कहा कि जमीन पर कब्जे के बारे में कोई प्रश्न नहीं है। भूमि गुरुकुल की है। वे जमीन पर ट्रैक्टर चलाने आए। वहां पहले से तैयार कुछ लोगों ने तलवारें उठाईं। उन पर पेट्रोल बम गिराया गया। एसजीपीसी के बहुत से कर्मचारी घायल हुए। उंगलियों को हाथ से अलग कर दिया गया। किसी की बाजू में कटौती हुई।

डेरा महंत के करणदीप ने बताया कि राजे महाराजा ने उनके बुजुर्गों को करीब दो सौ साल पुरानी जमीन दी थी। 1960 से इस जमीन को श्री गुरु ग्रंथ साहिब की जमीन से जोड़ा जाना शुरू हुआ है। इस मामले में पिछले कुछ समय से केस चल रहे हैं। केस हाईकोर्ट में चल रहा है। एसजीपीसी को कब्जा करने का आदेश किसी भी अदालत ने नहीं दिया। आज एसजीपीसी वाले हथियार और ट्रैक्टर जमीन में घुस गए। विरोध करने पर तलवारों से हमला किया गया। कई लोग घायल हुए।

एसजीपीसी अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी भी घायलों की हालत जानने के लिए सिविल अस्पताल पायल पहुंचे। उनका अनुरोध था कि डीएसपी पायल मामले में उचित कार्रवाई करे। धामी ने बताया कि यह जगह गुरुकुल की है। दूसरे पक्ष ने हमले करके अपनी गलती की। दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं, पायल के डीएसपी निखिल गर्ग ने बताया। जिनके आधार पर आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

Khanna: 12 से अधिक लोग घायल हो गए, जमीन पर कब्जे को लेकर डेरा प्रबंधकों-एसजीपीसी में हिंसा, पेट्रोल बम चले

जिसका कब्जा उसी की प्रोपर्टी फिर बदल गया कानून || jamin kabja kanoon || Legal Help || Advocate