Moosewala:

Moosewala: आरोपी पुलिस वाले बनकर गायक की हत्या करना चाहते थे, इसलिए योजना बदली गई

Punjab

Moosewala: 29 मई 2022 को मानसा में पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई। पंजाब सरकार ने उनकी सुरक्षा हत्या से एक दिन पहले वापस ली थी। कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई ने हत्या कर दी थी।
हाल ही में पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या हुई है, लेकिन मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। अब पता चला है कि आरोपियों ने मूसेवाला को मारने से पहले सुनसान जगह पर एके 47 चलाकर देखा था।

आरोपियों ने ग्रेनेड लांचर चलाने की भी कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए, इसलिए उसे पैक करके रखा। साथ ही, आरोपियों ने पहले मूसेवाला को मारने के लिए पुलिस अधिकारी बनने की योजना बनाई थी, लेकिन दो लड़कियां नहीं मिलने पर योजना बदल दी गई।

Moosewala: डबवाली गांव में अभ्यास किया गया

पुलिस पूछताछ में, आवा बस्ती बठिंडा निवासी हत्याकांड के आरोपी केशव पुत्र लालचंद ने बताया कि मूसेवाला की हत्या से पहले प्रियवर्त फौजी और दीपक मुंडी ने डबवाली के गांव सकता खेड़ा के खेतों में सुनसान जगह पर एके 47 सहित सभी पिस्टलों को चलाकर चेक किया था।

इसके अलावा, आरोपी दीपक मुंडी और प्रियवर्त फौजी ने ग्रेनेड लांचर चलाकर जांच करने की कोशिश की थी। जब ग्रेनेड आरोपियों से नहीं चला, तो फौजी ने उसे सुरक्षित रख दिया।

Moosewala: गोल्डी बराड़ ने हथियार दिए

सूत्रों ने बताया कि गायक मूसेवाला को भारी पुलिस सुरक्षा मिली थी, इसलिए गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने गैंगस्टरों को कई पिस्टल और एके 47 प्रदान किए थे। उसने साथ में गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के शूटर मनप्रीत सिंह मन्ना और जगरूप रूपा सहित तीन अन्य युवकों को फर्जी पुलिसकर्मी बनाकर मूसेवाला के घर जाना था।

इस योजना के लिए गैंगस्टरों ने पुलिस की वर्दी भी खरीदी थी, लेकिन वह फिट नहीं आई और आरोपियों के पास वर्दी का आधा सामान नहीं था। सूत्रों ने बताया कि एक युवा जो वर्दी पहनकर पुलिस की पगड़ी बांध रहा था, उसने गैंगस्टर गोल्डी बराड़ से बातचीत की थी जब योजना को पूरा किया जा रहा था। आरोपी ने कहा कि दो लड़कियों को योजना में शामिल करने के लिए आपने कहा था कि वे नहीं हैं।

सूत्रों ने बताया कि आरोपियों ने एक योजना बनाई थी कि दो लड़कियों को फर्जी पुलिसकर्मियों के साथ पत्रकार बनकर मूसेवाला के घर में घुसकर उसे मार डालें। सूत्रों ने बताया कि गोल्डी बराड़ ने इस योजना को विफल कर दिया क्योंकि पुलिस वर्दी का सामान पूरा नहीं हुआ था और दो लड़कियां नहीं मिलीं।

Moosewala: केशव ने फतेहाबाद से मानसा लाया था।

जब मूसेवाला की पुलिस सुरक्षा हटा दी गई, गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने आरोपी केशव को फोन किया और कहा कि मूसेवाला अब पुलिस सुरक्षा में नहीं है, आप फतेहाबाद जाकर सभी साथियों को मानसा लाओ। बाद में केशव अपनी बाइक पर फतेहाबाद गया और अपने सभी साथियों को साथ लेकर आया।

जबकि दो अन्य दोस्त उसके पीछे गाड़ी लेकर पहुंचे, आरोपी ने अपनी बाइक आगे लगाई। सूत्रों ने बताया कि डबवाली के गांव सकता खेड़ा के खेतों में रात भर सभी आरोपी फर्जी पुलिस वाले बनकर लड़कियों को पत्रकार बनाकर मूसेवाला की हत्या करने की योजना बनाई गई। सभी आरोपियों ने वहां अपने-अपने एके 47 और पिस्टल चलाकर चेक किया था।

हथियार चलाकर जांच करने के बाद अगले दिन सुबह पांच बजे सभी आरोपी खेतों से निकलकर मानसा की ओर चले गए। केशव ने पुलिस को बताया कि जब सभी आरोपी खेतों से निकलकर मानसा की ओर चले तो स्कार्पियो में तीन पंजाबी लड़के (मनप्रीत सिंह मन्ना, जगरूप रूपा) और शूटर (प्रियवर्त फौजी), केशव, दीपक मुंडी, कशिश उर्फ कुलदीप और अंकित सवार थे. दूसरी बोलेरो गाड़ी में केशव, दीपक मुंडी, कशिश उर्फ कुलदीप और अंकित दोनों गाड़ी डबवाली से बाहर निकल गईं। क्योंकि स्कार्पियो पर सवार लड़के ने पुलिस की वर्दी के सामान पूरा करने के लिए सामान लेने के लिए कहा था।

Moosewala: आरोपी पुलिस वाले बनकर गायक की हत्या करना चाहते थे, इसलिए योजना बदली गई

‘थानेदार’ बनकर कत्ल करने वाली थी ‘मैडम X’ ? Sidhu Moose Wala मर्डर केस में सबसे बड़ा खुलासा