Rajasthan:

Rajasthan: कार्यशाला में संघ प्रचारक ने कहा कि विकसित भारत के लिए दो नहीं, तीन से चार बच्चे होना चाहिए।

Rajasthan

Rajasthan: किसी भी परिवार में तीन या चार बच्चे होना चाहिए क्योंकि संघ का मानना है कि देश को विकसित भारत बनाने के लिए युवाओं की संख्या में बढ़ोतरी होना चाहिए, इसलिए दो से अधिक बच्चे होने पर सरकारी नौकरी में प्रमोशन नहीं मिलेगा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कहना है कि वर्तमान में दो से ज्यादा बच्चे होने पर सरकारी नौकरी नहीं मिलती, बल्कि तीन या चार बच्चे चाहिए। संघ के वरिष्ठ प्रचारक और स्वदेशी जागरण मंच के अखिल भारतीय सह संगठक सतीश कुमार ने कहा कि देश को विकसित भारत बनाने के लिए तीन या चार बच्चे होने चाहिए। 2047 तक, विकसित भारत को बुड्ढों का देश नहीं बनना है, बल्कि युवा और गतिमान होना चाहिए।

संघ ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघ चालक डॉ. मोहन भागवत और राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश कुमार के बाद एक और दिलचस्प बयान दिया है। सतीश कुमार ने संघ के अनुषांगिक संगठन स्वदेशी जागरण मंच के स्वावलंबी भारत अभियान के तहत जवाहर नगर सेवाधाम में जयपुर प्रांत विचार वर्ग और कार्यशाला के समापन सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में भाग लिया।

उनका कहना था कि पहले छोटे परिवार सुखी थे, लेकिन अब बड़े परिवार सुखी हैं। सतीश कुमार ने कहा कि वे आर्थिक गतिविधियों और आबादी के रिप्लेसमेंट रेशो के आधार पर ऐसा नहीं कह रहे हैं। उनका कहना था कि हमारी आबादी 1.9 प्रतिशत है, जो विश्वस्तरीय मानक है, जबकि यह 2.2 प्रतिशत होना चाहिए। इसका अर्थ है कि एक महिला को कम से कम दो बच्चे जन्म देना चाहिए। दो या तीन बच्चे चाहिए, पांच-छह नहीं। भारत की परिवार की स्टेबिलिटी और अर्थव्यवस्था के लिए यह महत्वपूर्ण है।

Rajasthan: युवा भारत विकसित हो

सतीश कुमार ने कहा कि दो महत्वपूर्ण अध्ययनों के बाद उन्होंने अधिक बच्चों की बात कही है। यह अध्ययन बताता है कि कुछ देशों की जीडीपी क्या थी और जनसंख्या घटने से जीडीपी घटी है। इसलिए, 2047 तक युवा और गतिमान जनसंख्या होनी चाहिए।

Rajasthan: जल्द ही देश की अर्थव्यवस्था बन जाएगी

Rajasthan: उनका कहना था कि भारत विकसित होगा अगर उसकी अर्थव्यवस्था समृद्ध और सर्वोच्च होगी। वर्तमान में भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हम 2025 में चौथी और 2026 में तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएंगे, लेकिन तीसरी से दूसरी और दूसरी से पहली आने में समय लगेगा। 2047 में भारत विश्व की सबसे युवा अर्थव्यवस्था बन जाएगा। एक आर्थिक रिपोर्ट के अनुसार, अगर देश के युवा लोगों को पूरी तरह से रोजगार मिल जाएगा, तो देश की अर्थव्यवस्था ४० ट्रिलियन डॉलर की हो जाएगी।

सतीश कुमार ने कहा कि देश को कोई भी सरकार महान नहीं बना सकती है। वह आर्थिक विकास ही कर सकती है। देश को विकसित करने के लिए जीवन मूल्यों का पालन करना आवश्यक है। उनका कहना था कि देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए युवा लोगों को स्टार्टअप शुरू करने की जरूरत है, जबकि राजनीतिक दल नौकरी को ही रोजगार मानते हैं।

Rajasthan: कार्यशाला में संघ प्रचारक ने कहा कि विकसित भारत के लिए दो नहीं, तीन से चार बच्चे होना चाहिए।

MP Patwari Bharti, MPPSC Exam, PM Modi से मिली नसीहत पर क्या बोले MP CM Mohan Yadav | Jamghat