Ayodhya

Ayodhya: मुख्यमंत्री ने डिजाइन देखा, अयोध्या और प्रयाग में अतिविशिष्ट राज्य अतिथि गृह बनेगा

Uttar Pradesh

Ayodhya: नए अतिथि आवासों का निर्माण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देखा है। इनकी वास्तुकला वैष्णव परंपरा को दर्शाती है। भवनों का निर्माण राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल और मुख्यमंत्री के सुरक्षा और सुविधा प्रोटोकॉल के अनुरूप होगा।

राज्य सरकार रामनगरी अयोध्या और तीर्थराज प्रयाग में अतिथि गृहों का निर्माण कराने जा रही है। शुक्रवार को, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोनों अतिथि गृहों का निर्माण स्थल, ले-आउट, सुविधाओं और साज-सज्जा सहित प्रस्तुतिकरण देखा और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

Ayodhya:

Ayodhya: राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक

Ayodhya: मुख्यमंत्री ने राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि राम जन्म भूमि मंदिर स्थापना के बाद अयोध्या में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल सहित दुनिया भर से कई विशिष्ट अतिथियों का आगमन होगा। इनके प्रवास के लिए सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा और सुविधा के साथ गेस्ट हाउस की जरूरत है। ऐसे ही प्रयागराज में अति विशिष्ट लोगों को बेहतर आतिथ्य देने के लिए एक सुविधापूर्ण अतिथि घर बनाया जाना चाहिए। इसके लिए जल्द ही कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या में प्रस्तावित अतिथि गृह के लिए पर्यटन विभाग की भूमि सरयू नदी के किनारे उपयुक्त होगी। 3.50 एकड़ क्षेत्र में अतिथि घर बनाया जा सकता है। वैष्णव परंपरा को भवन की वास्तुकला में दिखाना चाहिए। भवन की ऊंचाई निर्धारित करते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह कभी भी राम जन्मभूमि मंदिर से ऊंचा नहीं होगा। महर्षि दयानंद मार्ग, प्रयागराज में लगभग 10,300 वर्ग मीटर क्षेत्र में प्रस्तावित अतिथि गृह होगा। जहां बैठक हॉल, डायनिंग हॉल, कैंटीन आदि उपलब्ध होंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि अति विशिष्ट अतिथियों के आगमन को ध्यान में रखते हुए दोनों अतिथि गृहों में पार्किंग की उचित व्यवस्था होनी चाहिए। आगंतुक प्रदेश की विविधतापूर्ण शिल्पकला से परिचित होने के लिए अतिथि घरों में ओडीओपी ब्लॉक भी होना चाहिए।

Ayodhya: मुख्यमंत्री ने डिजाइन देखा, अयोध्या और प्रयाग में अतिविशिष्ट राज्य अतिथि गृह बनेगा

अयोध्या व प्रयागराज में बनेगा अतिविशिष्ट राज्य अतिथि गृह, सीएम योगी ने देखी डिजाइन