NCR Railway: 

NCR Railway: संगम एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से आरक्षित कोच से बाहर होंगे

Uttar Pradesh

NCR Railway: रेलवे ने ट्रेनों के आरक्षित कोच में बढ़ती भीड़ को देखते हुए नई व्यवस्था बनाई है। अब, सीट कन्फर्म न होने पर प्रतीक्षा सूची में शामिल यात्रियों को बोगी से निकालकर सामान्य बोगी में भेज दिया गया। रेलवे महकमे ने भी इसकी शुरुआत की है। रिजर्व सीट वालों को भी यात्रा करना मुश्किल हो रहा है क्योंकि वेटिंग टिकट वालों की बहुतायत है।

NCR Railway: 15 यात्रियों को उतारकर जनरल कोच में भेजा गया।

NCR Railway: ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची बढ़ने से आरक्षित कोचों में भीड़ भी बढ़ी है। इसलिए, कई यात्रियों को उनके कंफर्म रिजर्वेशन वाले यात्रियों के साथ अपनी बर्थ प्रतीक्षा सूची साझा करनी पड़ेगी। इसलिए उन्हें सफर के दौरान बहुत असुविधा होती है। उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल ने कंफर्म टिकट वाले यात्रियों की इस समस्या को देखते हुए एक विशेष जांच अभियान शुरू किया है। रविवार को शुरू हुए इस अभियान के पहले दिन, सूबेदारगंज स्टेशन पर मेरठ जाने वाली संगम एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से 15 यात्रियों को उतारकर जनरल कोच में भेजा गया।

इस बीच, प्रयागराज जंक्शन पर सीनियर डीसीएम हिमांशु शुक्ला ने यात्रियों की एक बैठक की व्यवस्था की। विभिन्न विभागों के अफसरों और कर्मचारियों ने स्टेशन निदेशक कक्ष में बैठक में भाग लिया। उस समय, गर्मी के इस सीजन में ट्रेनों की लंबी प्रतीक्षा सूची को देखते हुए भीड़ प्रबंधन को सुधार करने का आदेश दिया गया।

NCR Railway: यात्रियों को एक कोच में साफ सुथरी चादर, तकिया और कंबल देने पर जोर दिया गया। इसके अलावा, भोजन की सुविधाएं बढ़ाने और छोटे स्टेशनों पर पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था करने की मांग की गई। यह भी कहा गया कि आरक्षित कोचों में अन्य श्रेणी वाले यात्री या प्रतीक्षा सूची वाले यात्री नहीं जाना चाहिए। रेलवे का चेकिंग स्टाफ प्रमुख स्टेशनों पर आरपीएफ के सहयोग से प्रतीक्षा सूची वाले यात्रियों को अनारक्षित कोच में जाने को कहेगा। एसीएम दिनेश कुमार, संजय गौतम और स्टेशन निदेशक वीके द्विवेदी भी बैठक में उपस्थित थे।

NCR Railway: संगम एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से आरक्षित कोच से बाहर होंगे

Indian Railways क्या Sleeper Coach को खत्म करने जा रहा है? Railway Board Chairman की सफाई | NBT