MP News:

MP News: MP कांग्रेस में अंदरूनी विवाद जारी है; एक शिकायती पत्र में पार्टी प्रमुख ने कहा कि वे 20 सीट भी नहीं जीत पाएंगे।

Madhya Pradesh

MP News: मध्य प्रदेश कांग्रेस में युवा नेतृत्व को वरिष्ठ नेता नहीं मान सकते हैं। उन पर निरंतर आरोप लगाए जाते हैं। अब मध्य प्रदेश की स्थिति पर पत्र लिखा गया है। पत्र ने चेतावनी दी है कि कांग्रेस 20 सीट भी नहीं जीत पाएगी अगर इन पदाधिकारियों को हटाया नहीं गया।

विधानसभा और लोकसभा चुनावों में मध्य प्रदेश कांग्रेस की हार के बाद भी पार्टी में व्याप्त विवाद कम नहीं हुआ है। पुराने नेता जिम्मेदार होते थे, इसलिए वे बोलने से बचते थे. लेकिन जब से जीतू पटवारी को प्रदेश का अध्यक्ष और उमंग सिंघार को नेता प्रतिपक्ष नियुक्त किया गया है, तब से विरोध के स्वर लगातार उठ रहे हैं। कांग्रेस की खराब स्थिति को देखते हुए भोपाल के एक नेता ने आलाकमान को पत्र लिखा है।

MP News: आलाकमान को पत्र लिख बताई स्थिति और लगाए आरोप

मध्यप्रदेश कांग्रेस नेता और पूर्व कांग्रेस प्रवक्ता अमिताभ अग्निहोत्री ने एक पत्र लिखकर कांग्रेस आलाकमान को प्रदेश कांग्रेस की दुर्दशा बताई और कई आरोप लगाए। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को लिखे पत्र में अमिताभ अग्निहोत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में निष्ठावान, कर्मठ और जनता से जुड़े नेताओं की उपेक्षा की जाती है, जबकि कांग्रेस में पुत्रवाद, परिवारवाद, पट्टावाद, पूंजीवाद और चापलूसवाद को प्राथमिकता दी जाती है।

अग्निहोत्री ने आगे लिखा कि 2018 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को लगभग 40 प्रतिशत मत मिले थे, जो वर्तमान लोकसभा चुनाव में लगभग 32 प्रतिशत रह गया है। कांग्रेस के वोट प्रतिशत में 8 प्रतिशत की गिरावट कैसे हुई? यह चिंताजनक है। वर्तमान में चिंता का विषय यह है कि कांग्रेस ने 2024 के लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश की 29 सीटों में भारी हार झेली है। 4 लाख से अधिक मतों से कांग्रेस के लगभग 11 लोकसभा प्रत्याशी पराजित हुए। कांग्रेस के 66 विधायकों के विधानसभा क्षेत्र में लगभग 50 विधायकों की हार हुई।

MP News: प्रदेश अध्यक्ष भी अपना क्षेत्र नहीं बचाया

जीतू पटवारी को लेकर अमिताभ अग्निहोत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष जीतू पटवारी का इंदौर शहर में ही प्रभाव नहीं है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने अक्षय कांति बम को इंदौर लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया था, लेकिन वह चुनाव से पहले ही भाजपा में चले गए। भाजपा प्रत्याशी ने लगभग 11 लाख मतों से इंदौर लोकसभा क्षेत्र में जीत हासिल की। जीतू पटवारी की अभिमानपूर्ण कार्यशैली ने कई महत्वपूर्ण नेता को कांग्रेस से बाहर कर दिया। कांग्रेस के नेताओं के पलायन को रोकने के लिए कोई डेमैज कंट्रोल कमेटी नहीं बनाई गई, और कोई गंभीर प्रयास भी नहीं किए गए।

MP News: पटवारी ने कहा कि घोटाले से वोट नहीं मिलते

अमिताभ अग्निहोत्री ने लिखा कि मैंने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी से कहा कि युवक कांग्रेस एनएसयूआई को मध्य प्रदेश के हर शहर और जिले में नर्सिंग, आयुष्मान अस्पताल, कोरोना काल और रेमडेसिविर इंजेक्शन घोटालों को उठाना चाहिए, जिससे कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में फायदा होगा। जिस पर जीतू पटवारी ने घोटाले को मुद्दा बनाकर वोट नहीं मिलते थे।

मध्य प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व ने लोकसभा चुनावों के दौरान कहा कि अब प्रदेश कांग्रेस में युवा नेतृत्व महत्वपूर्ण होगा। पुरानी पत्तियां मर चुकी हैं, अब नई पत्तियों का समय है। इन बयानों से वर्षों पुराने कांग्रेसी कार्यकर्ता नाराज़ हो गए और निष्क्रिय हो गए, जबकि वर्तमान प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व नवयुवकों को कांग्रेस में शामिल नहीं कर पाया।

अगर नेतृत्व नहीं बदलता, तो अगले चुनाव में भी हार होगी।

अग्निहोत्री ने पत्र में आगे लिखा कि लोकसभा चुनाव के दौरान प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व ने कहा कि उन्हें 2028 और 2029 के विधानसभा चुनावों के लिए नई कार्ययोजना बनानी होगी। मैं मानता हूँ कि अगर जीतू पटवारी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष होंगे और उमंग सिंघार प्रतिपक्ष होंगे, तो कांग्रेस 2028 में 20 से अधिक सीट नहीं जीत पाएगी और 2029 में एक भी लोकसभा सीट नहीं जीत पाएगी।

MP News: MP कांग्रेस में अंदरूनी विवाद जारी है; एक शिकायती पत्र में पार्टी प्रमुख ने कहा कि वे 20 सीट भी नहीं जीत पाएंगे।

Aaj Ki Baat LIVE : EXIT पोल में मोदी आगे आए तो कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाए | EXIT POLL|Modi