Chandni Chowk:

Chandni Chowk: चांदनी चौक में दो इमारतें ध्वस्त हो गईं और 60 से अधिक दुकान जल गईं; 250 युवा आग बुझाने में शामिल

Delhi

Chandni Chowk: गुरुवार शाम को चांदनी चौक के नई सड़क क्षेत्र में कटरा मारवाड़ी में अचानक आग लग गई। पूरे बाजार में आग लगते ही हड़कंप मच गया। किसी तरह भीड़ से भरे बाजार को खाली कर दिया गया। बीच में आग भयंकर हो गई। देखते ही देखते ही आग ने आसपास की दो इमारतों को घेर लिया।
इनमें दुकानें और गोदाम थे। दुकानदारों ने भागकर बच गए। इस बीच, पुलिस और दमकल विभाग को मामले की जानकारी दी गई। शुरुआत में 14 गाड़ियां वहां भेजी गईं, लेकिन स्थिति खराब होने पर 50 गाड़ियां कर दी गईं। दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग खुद आग का विकराल रूप देखकर वहां पहुंचे।

आग को नियंत्रित करने के दौरान टुकड़ी (पटिया-टी-आयरन)-गाटर पर दो मंजिला दो इमारत गिर गईं। आग पर काबू पाने में दमकल विभाग के 250 से अधिक जवान और अधिकारी लगे हुए थे। कटरा मारवाड़ी से आग खाना की ओर बढ़ी। एहतियात के तौर पर पुलिस ने आसपास की कई इमारतों और दुकानों को खाली करवा दिया।

Chandni Chowk: हादसे ने पूरे क्षेत्र को परेशान कर दिया। वहां बहुत सारे लोग थे। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस बल मौके पर भेजा गया है। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि हादसे में फिलहाल किसी की मौत की खबर नहीं है। आग को नियंत्रित करने के बाद सर्च ऑपरेशन पूरा हो जाएगा।

दिल्ली फायर सर्विस के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि शाम करीब पांच बजे कंट्रोल रूम को खबर मिली कि नई सड़क और पुराना कटरा मारवाड़ी में आग लग गई है। एक भवन की दूसरी मंजिल से आग निकली। इसके बाद आग फैलती चली गई। बचाव दल को जल्द ही वहां भेजा गया।

Chandni Chowk: लगभग हर दुकान में साड़ियां, सूट, लहंगे और कपड़े मौजूद थे। ऐसे में आग बढ़ती चली गई। आग 50 से 50 फुट ऊंची होने लगी। जिन इमारतों में आग लगी थी, ग्राउंड फ्लोर के अलावा पहली और दूसरी मंजिल पर दुकानें और गोदाम दोनों थे। इमारतों की छत टी-आयरन-गाटर से बनाई गई थी।

आग लगने से इमारतें गर्म हो गईं, जिससे टी-आयरन और लोहे के गाटर पिघल गए। इन दोनों इमारतों में छह सौ से छह सौ दुकानें बताई गईं। दुकानों में रखा सामान जल गया और खाक हो गया। समाचार लिखे जाने तक आग मारवाड़ी कटरे से खाना की ओर बढ़ रही थी।

दमकल विभाग के दर्जनभर से अधिक अधिकारियों के अलावा 250 से अधिक युवा आग को नियंत्रित करने में जुटे थे। यद्यपि अधिकारियों ने बताया कि आग को काफी हद तक नियंत्रित किया जा चुका है, लेकिन इसे पूरी तरह से बुझाया नहीं जा सका है। मुख्य बात आग को फैलने से रोकना है। पुलिस अधिकारी भी वहां पहुंच गए थे।

Chandni Chowk: दमकल कर्मियों को घटनास्थल पर पहुंचने में काफी मुश्किल हुई..।

Chandni Chowk: पुराने चांदनी चौक की नई सड़क हमेशा व्यस्त रहती है। यहां अतिक्रमण एक बड़ी समस्या है क्योंकि नई सड़कें बहुत संकरी हैं। बृहस्पतिवार को इसका परिणाम हुआ। आग लगने के बाद पुलिस और दमकल सेवाओं को फोन किया गया। जामा मस्मिद दमकल केंद्र मारवाड़ी कटरा से सिर्फ एक किलोमीटर दूर है, लेकिन दमकल कर्मियों को यहां पहुंचने में काफी कठिनाई हुई।

चावड़ी बाजार में गाड़ी नहीं प्रवेश कर सकी। चांदनी चौक की मुख्य सड़क से उनको भेजा गया। नव निर्मित सड़क को खाली करने में बहुत समय लग गया। गाड़ियां वहां पहुंचने तक काफी देर हो चुकी थी। एक बड़ा हिस्सा आग ने घेर लिया था। चांदनी चौक से भी आग निकली और नई सड़क के अंतिम छोर के पास लगी।

दमकल कर्मियों को पाइपों से ऊंची इमारतों पर चढ़ना पड़ा। दुकानों पर पानी इसके बाद ही डाला जा सकता था। दमकल की गाड़ियों को पानी लेने में बहुत मुश्किल हो रही थी क्योंकि सड़क संकरी थी। ऐसे में आग को नियंत्रित नहीं किया जा सका। दमकलकर्मी आग बुझाने में लगे हुए थे।

Chandni Chowk: आसपास की दर्जनों इमारतों को खाली कर दिया गया..।

नई सड़क पर आग लगते ही जगह-जगह शोर मच गया। आग की लपटें ऊंची होने लगी। पुलिस भी मौके पर आई। एहतियात के तौर पर पुलिस ने आसपास की इमारतों को खाली करवाना शुरू किया। लोगों ने अपना सामान भी गोदामों और दुकानों से निकालना शुरू कर दिया।

हर कोई डर था कि आग उनकी दुकान या गोदाम तक पहुँच जाएगी। पुलिस ने आसपास के घरों में रहने वालों को भी बाहर निकालकर सुरक्षित स्थान पर भेजा। लेकिन कुछ लोग घर छोड़ने को तैयार नहीं थे। पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर वहां से निकाला। हादसे में जिन लोगों की दुकानें खाली हो गईं, उनके चेहरों पर मायूसी छा गई थी।

Chandni Chowk: चांदनी चौक में दो इमारतें ध्वस्त हो गईं और 60 से अधिक दुकान जल गईं; 250 युवा आग बुझाने में शामिल

Delhi News : चांदनी चौक में लगी भीषण आग, दमकल की 14 गाड़िया लगी आंग बूझाने | Latest Updates