Raebareli:

Raebareli: दंपती की मौत करंट की चपेट में आने से हुई, पति को बचाने आई पत्नी भी मर गई।

Uttar Pradesh

Raebareli: रायबरेली के नसीराबाद में एक दर्दनाक हादसे में एक पति-पत्नी की करंट लगने से मौत हो गई। पति को बचाने गई पत्नी को भी करंट लग गया।
दंपति ने रविवार रात रायबरेली के नसीराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत रायपुर टोड़ी गांव में फर्राटा पंखा में उतरे करंट से मर गया। ग्राम प्रधान ने सोमवार की सुबह पुलिस को सूचना दी और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

धनराजा (50), नसीराबाद थाना क्षेत्र के रायपुर टोड़ी गांव निवासी, ने खाना बनाकर रख दिया था। खाना खाने से पहले उसका पति रामकेश (55) फर्राटा पंखा की बटन पीछे से चालू करने गया। वह बटन पर उतरने वाले करंट से चिपक गया। धनराजा को छुड़ाने गई पत्नी भी उसी की चपेट में आ गई। दोनों मौके पर मर गए।

गांव के लोग हर सोमवार सुबह पड़ोस के बिरनावां गांव में ठाकुर बाबा का दर्शन करने जाते हैं। सुबह छह बजे लोग रामकेश के घर गए, लेकिन दरवाजा बंद था। जब उन्होंने फोन करने पर भी कोई उत्तर नहीं दिया, तो मैंने दरवाजा झांककर देखा कि दोनों जमीन पर पड़े थे। ग्रामीणों ने प्रधान प्रतिनिधि पिंकू साहू को जानकारी दी। प्रधान प्रतिनिधि ने पुलिस को इसकी सूचना दी।

Raebareli: तुरंत थानाध्यक्ष राजेश कुमार मौर्य, उप निरीक्षक त्रियुगी नारायण और मान सिंह ने घटनास्थल पर पहुंचकर दरवाजा तोड़ दिया. दोनों शवों को बाहर निकालकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। थानाध्यक्ष राजेश कुमार मौर्य ने कहा कि दंपती घर में अकेले थे। बिजली का करंट मार डाला।

Raebareli: साथ जिये और साथ ही मौत को लगाया गले

पति-पत्नी का रिश्ता विश्वास और प्रेम से बना है। यह दंपती ने नसीराबाद के रायपुर टोड़ी गांव में बखूबी जिया। दोनों ने मिलकर जीया और मरने पर उसे भी गले लगाया। दोनों शाम को घर के बरामदे में भोजन करते समय बिजली के करंट की चपेट में आने से मर गए।

दंपती की मौत से उनके बेटे बाहर हैं। घटना ने गांववासी को निराश कर दिया है। मृतक रामकेश और धनराजा के बेटे बनवारी लाल, विपिन कुमार और गुड्डू अपने परिवार के साथ विभिन्न नगरों में काम करते हैं। शीला, साधना, निशा और संगीता की शादी हो चुकी है। सब बेटियां अपने ससुराल में थीं।

Raebareli: दंपती की मौत करंट की चपेट में आने से हुई, पति को बचाने आई पत्नी भी मर गई।

Desh Nahi Jhukne Denge LIVE : 1800 मकानों पर चला ‘Bulldozer’ Owaisi के दावे में कितनी ‘सच्चाई’?