Ujjain:

Ujjain: श्रावण मास की तैयारियों पर मंथन, बाबा महाकाल की सात सवारियों की व्यवस्था

Dharma Madhya Pradesh

Ujjain: बाबा महाकाल की सवारी श्रावण मास में पांच बार और भादों मास में दो बार सोमवार को होगी। 22 जुलाई को पहली सवारी निकाली जाएगी, जबकि 2 सितंबर को शाही सवारी निकाली जाएगी।

प्रशासनिक संकुल भवन में एक बैठक आयोजित की गई थी जिसका उद्देश्य था कि बाबा महाकाल की सवारियों को सुव्यवस्थित ढंग से आयोजित किया जाए और श्रावण मास में आने वाले बहुत से श्रद्धालुओं को आसानी से दर्शन देना। कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने बैठक में कहा कि पिछले वर्षों में निकाली गई बाबा महाकाल की सवारियों के अनुभव को देखते हुए बेहतर कार्ययोजना बनाई जाए। मंदिर समिति के सदस्यों के सुझावों पर प्रशासक, अपर कलेक्टर और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्ययोजना बनाएं।

श्री महाकालेश्वर प्रबंध समिति के सदस्य (पुजारी राजेंद्र गुरु), पुजारी प्रदीप शर्मा (पुजारी), पुजारी आशीष शर्मा (पुजारी), पुजारी राम शर्मा (पुजारी), सीईओ जिला पंचायत और प्रशासक श्री महाकालेश्वर मंदिर मृणाल मीना, सीईओ यूडीए संदीप सोनी, एडीएम अनुकूल जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गुरु प्रसाद पाराशर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयंत सिंह

Ujjain: ये सुझाव महत्वपूर्ण हैं

मंदिर समिति के सदस्यों ने मुख्य रूप से श्रावण महीने के पूरे 45 दिनों के लिए विशेष कार्ययोजना बनाने के लिए सुझाव दिए. इन सुझावों में शामिल थे: सवारी मार्ग की आवश्यक चौड़ीकरण और मरम्मत, बाबा महाकाल की सवारी के दौरान श्रद्धालुओं के लिए सुझाव; कावड़ यात्रियों के लिए उचित व्यवस्था; 84 महादेव मंदिरों का दर्शन; भीड़ नियंत्रण; रस्सा नियंत्रण

Ujjain: श्रावण महीने में पांच और भाद्र महीने में दो सवारी निकाली जाएगी।

बाबा महाकाल की सवारी श्रावण मास में पांच बार और भादों मास में दो बार सोमवार को होगी। 22 जुलाई को पहली सवारी होगी, 29 जूलाई को दूसरी सवारी होगी, 5 अगस्त को चौथी सवारी होगी, 12 अगस्त को पांचवी सवारी होगी, 19 अगस्त को रक्षाबंधन पर्व पर, 26 अगस्त को कृष्ण जन्मोत्सव पर और 2 सितंबर को शाही सवारी होगी।

Ujjain: बाबा महाकाल की सवारी इन रास्ते से होगी

भगवान श्री महाकालेश्वर जी की सवारी श्री महाकाल मंदिर से शुरू होकर महाकाल रोड, गुदरी चौराहा, वक्षी बाजार, कहारवाडी से होकर रामघाट जाएगी. वहाँ सवारी का पूजन होने के बाद सवारी वापस रामानुजकोट, मोढ़ की धर्मशाला, कार्तिक चौक, खाती समाज मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, ढाबा रोड, टंकी चौराहा, छत्री चौक, गोपाल मंदिर, पटनी बाजार, गुदरी बाजार 2 सितंबर को श्री महाकालेश्वर मंदिर तक पहुंचने वाली प्रमुख शाही सवारी निम्नलिखित मार्गों के अलावा टंकी चौराहे से मिर्जा नईमवेग, तेलीवाडा चौराहा, कंठाल, सतीगेट, सराफा, छत्रीचीक, गोपाल मंदिर, पटनी बाजार और गुदरी चौराहे से गुजरेगी।

Ujjainश्रावण मास की तैयारियों पर मंथन, बाबा महाकाल की सात सवारियों की व्यवस्था

महाकाल मंदिर :सावन सोमवार:महाकाल सवारी |Mahakal ujjain sawari Live